अमरनाथ यात्रा 2 जुलाई से शुरू

श्रीनगर। राज्यपाल एनएन वोहरा ने सोमवार को सुरक्षा एजेंसियों और नागरिक प्रशासन के अधिकारियों को आपस में व्यापक तालमेल बनाकर श्री अमरनाथ तीर्थयात्रा के लिए सुरक्षित और विश्वासपूर्ण माहौल बनाने के निर्देश दिए। इस साल यात्रा दो जुलाई को शुरू होकर रक्षाबंधन के दिन 18 अगस्त को संपन्न होगी।

श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के चेयरमैन व राज्यपाल एनएन वोहरा ने सोमवार को राजभवन में एक उच्चस्तरीय बैठक में यात्रा प्रबंधों की तैयारियों का जायजा लिया। तीन घंटे तक जारी रही इस बैठक में मुख्यसचिव के अलावा राज्य पुलिस, केंद्रीय अर्धसैनिकबलों, सेना और विभिन्न खुफिया एजेंसियों के आलाधिकारी मौजूद रहे।

सिर्फ पंजीकृत श्रद्घालु ही करें यात्रा :

राज्यपाल ने बैठक में पुलिस महानिदेशक व प्रशासन को सभी निर्धारित मानदंडों को प्रभावी तरीके से लागू करने का निर्देश देते हुए कहा कि सिर्फ पंजीकृत श्रद्धालु ही निर्धारित तिथि और रास्ते के मुताबिक ही यात्रा करें।

श्रद्घालुओं का काफिला न रुके :

राज्यपाल ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि वह इस बात को सुनिश्चित बनाएं कि पंजीकृत श्रद्धालुओं को लखनपुर से लेकर पवित्र गुफा तक यात्रा करने के दौरान किसी तरह की दिक्कत न हो। उन्हें अनावश्यक रूप से रोका न जाए।

जम्मू से बालटाल तक सड़क ठीक रहे :

राज्यपाल ने मुख्यसचिव को निर्देश दिया कि वह यात्रा के दौरान श्रद्घालुओं की आवाजाही को सुगम बनाएं। इसके लिए जम्मू से श्रीनगर और श्रीनगर से बालटाल तक सड़क की स्थिति को ठीक रखा जाए।

पल-पल मौसम की जानकारी दी जाए :

राज्यपाल ने सभी एजेंसियों और विभागों में व्यापक तालमेल पर जोर दिया। साथ ही श्राइन बोर्ड के अतिरिक्त सीईओ को सभी एजेंसियों को यात्रा के दौरान मौसम पूर्वानुमान की जानकारी समय रहते देने का जिम्मा सौंपा।


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

Breaking News
%d bloggers like this: