ग्रामीणों ने जलापूर्ति मांग के समर्थन में विरोध जताया

श्रीगंगानगर। सूरतगढ़ शाखा में पानी प्रवाहित करने की मांग को लेकर मंगलवार को भारतीय किसान संघ ने श्रीबिजयनगर एसई कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन कर विरोध जताया। बाद में मांग के संबंध में तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर जल्द पानी प्रवाहित करने की मांग की।
संघ के प्रांतीय मंत्री सत्यनारायण गोदारा ने बताया कि सूरतगढ़ शाखा में बीती 20 अप्रेल से पानी नहीं छोड़ा गया है। इसके चलते न तो किसानों को सिंचाई के लिए पानी मिल सका है, न आमजन को पेयजल। शाखा से संबंधित ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल के लिए बनाए निजी स्त्रोत भी खाली हो गए हैं जबकि तालाब, जोहड़ों में आवारा पशुओं के पीने लायक भी पानी नहीं बचा है। इनमें रहने वाले जलीय जीव भी मर रहे हैं। जलदाय विभाग की डिग्गियां खाली हैं, जिनमें एक दिन बाद फ्लोराइडयुक्त पेयजल आपूर्ति दी जा रही है। गोदारा ने बताया कि सूरतगढ़ शाखा के 253 आरडी, 268 आरडी, 306 आरडी, 337आरडी और हैड से निकल रही नहरें सरदारपुरा वितरिका, बुगिया वितरिका, मालासर वितरिका, नीजामपुरा, बिलौचिया वितरिका, एपीपी, पीटीडी, केएसडी, यूडीएम सहित अन्य माइनर क्षेत्र में पेयजल का भंयकर संकट है। हालात प्यासे मरने जैसे हो गए हैं, इसके बावजूद जलदाय विभाग, जल संसाधन विभाग और जिला के साथ-साथ उपखंड प्रशासन भी मूकदर्शक बना हुआ है। संघ पदाधिकारियों ने ज्ञापन में जल्द पानी देने की मांग करते हुए ऐसा नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी गई है।

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: